गुरुग्राम समेत पूरे देश में लॉक डाउन का सबसे अधिक असर दिहाड़ीदार मजदूरों पर पड़ रहा है। जेब में रुपये न होने व प्रशासन से मदद न मिलने के कारण जिले में करीब 10 हजार से अधिक मजदूर रोटी के लिए तरस गए हैं

Source: लॉकडाउनः दो दिन झाड़ी के बेर खाकर किया गुजारा, अब जान जोखिम में डालकर कर रहे मजदूरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.