By Amar Ujala – अभिभावक फीस जमा नहीं कर रहे, शिक्षक बिना वेतन पढ़ा रहे

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।
*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

गुरुग्राम। जुलाई शुरू होने के साथ स्कूलों में जहां ऑनलाइन कक्षाएं शुरू हो चुकी हैं, वहीं अभिभावकों को फीस की चिंता सताने लगी है। इस महीने से स्कूल प्रबंधन फीस के सामान्य स्तर पर जमा होने की उम्मीद जता रहे थे लेकिन बिना फीस ही स्कूलों को दोहरी मार झेलनी पड़ रही है। शिक्षक चार महीने बाद भी बिना वेतन ही छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा देने पर मजबूर हैं।

लॉकडाउन की आर्थिक तंगी के बीच निदेशालय ने सिर्फ 30 जून तक ही मासिक फीस जमा कराने के निर्देश दिए थे। इस दौरान सभी वार्षिक फीस, फंड, बस और स्मार्ट क्लास आदि फीस को स्थगित कर दिया गया था। असमर्थ अभिभावकों को फीस किस्तों में जमा कराने की छूट दी गई थी। वहीं जुलाई की शुरुआत के बाद भी अभिभावक फीस जमा कराने से साफ इन्कार कर रहे हैं। हालांकि, अधिकतर स्कूलों द्वारा अभी भी सिर्फ मासिक फीस ही मांगी जा रही है। ट्यूशन फीस को भी जमा कराने में अभिभावक असमर्थता व्यक्त कर रहे हैं।
गुरुग्राम अभिभावक संगठन से हिमांशु ने बताया कि स्कूलों में फीस को इतना बढ़ाया जा रहा है कि अभिभावकों के लिए अपने बच्चों को पढ़ाना आसान नहीं रहा है। सरकार को स्कूलों की फीस का पूरा आकलन करना चाहिए। किताबों के नाम पर ही हजारों रुपये वसूले जा रहे हैं। फीस वृद्धि के मुद्दे को सुप्रीम कोर्ट तक लेकर जाएंगे।

कोट अभी भी अभिभावकों की स्थिति को समझते हुए सिर्फ मासिक ट्यूशन फीस ही मांगी जा रही है, लेकिन अभिभावक स्कूल और शिक्षक की स्थिति को अभी तक नहीं समझा रहे हैं। कई अभिभावक संगठन फीस जमा करने के विरोध में उतरे हुए हैं। ऑनलाइन कक्षाओं को शुरू कर दिया गया है। किसी भी अभिभावक पर कोई दबाव नहीं बनाया जा रहा है। – यशपाल यादव, प्रदेश अध्यक्ष, हरियाणा शिक्षण संस्थान संगठन। कोट पिछले आदेश के अनुसार 30 जून तक स्कूल अभिभावकों से सिर्फ ट्यूशन फीस ही जमा करा सकते थे। अभी नए आदेश जारी नहीं हुए हैं। आदेशों के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। – इंदु बोकन, जिला शिक्षा अधिकारी।

For more details, please visit http://gestyy.com/eqGPzU

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.